2250 करोड़ से बनेगा गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे, कैबिनेट की मिली मंजूरी

राज्य सरकार ने गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे बनाने के लिए पैसे की व्यवस्था का रास्ता साफ कर दिया है। एक्सप्रेस-वे के वित्तीय पोषण के लिए बैंक कंर्सोशियम को कैबिनेट से मंजूरी मिल गई है।
यूपीडा के सीईओ अवनीश कुमार अवस्थी के मुताबिक गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे परियोजना के लिए अधिकतम 2250 करोड़ रुपये ऋण की सीमा निर्धारित की गई है। इस काम के लिए एक बैंक कंर्सोशियम के गठन का रास्ता साफ हो गया है। इसके लिए पंजाब नेशनल बैंक ने 750 करोड़ रुपये का ऋण स्वीकृत कर दिया है।
हाथरस : यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया, रात में क्यों किया था मृत युवती का अंतिम संस्कार
पंजाब नेशनल बैंक ने गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे परियोजना के वित्त पोषण के लिए बनने वाले बैंक कंर्सोशियम का नेतृत्व किया जाएगा। इसमें यूनियन बैंक, केनरा बैंक, इंडियन बैंक, यूको बैंक, बैंक ऑफ इंडिया और बैंक ऑफ महाराष्ट्र इसमें सहभागी होंगे। इसके लिए पूरा ऋण तीन सालों में यूपीडा द्वारा जरूरत के अनुसार समय-समय पर बैंकों से निकाला जाएगा। ऋण राशि के लिए प्रारंभिक तौर पर कंर्सोशियम बैंकिंग व्यवस्था के अंतर्गत काम किया जाएगा।
हाथरस केस में नया मोड़, पीड़ित परिवार और आरोपी के बीच 100 से ज्यादा बार हुई फोन पर बात
यूपी की परियोजनाओं के काम के लिए धनराशि की तात्कालिक जरूरत व अन्य बैंकों से अंतिम स्वीकृति में लग रहे समय को ध्यान में रखते हुए पंजाब नेशनल बैंक ने कंर्सोशियम के लीड बैंक की भूमिका स्वीकार की है। फाइनेंशियल क्लोजर होने व बैंकों का कंर्सोशियम स्थापित होने तक वह अपनी स्वीकृत राशि का अधिकतम 50 प्रतिशत यानी 375 करोड़ की ऋण राशि अवमुक्त कर सकेगा।