गोरखपुर के चर्चित पूर्व मंत्री हरिशंकर तिवारी के बेटे और बीएसपी विधायक विनय शंकर तिवारी के कई ठिकानों पर C.B.I. का पड़ा छापा

सीबीआई ने यूपी के कई जिलों में छापा मारा
लखनऊ ,गोरखपुर, नोएडा में सीबीआई के छापे
गोरखपुर के ठिकानों पर भी छापा।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री हरिशंकर तिवारी के बेटे और बसपा विधायक विनय शंकर तिवारी की कई फर्मों पर आज एक साथ सीबीआई ने छापेमारी की. चिल्लूपार से बसपा विधायक विनय शंकर तिवारी से जुड़ी फर्म गंगोत्री इंटरप्राइजेज, मैसर्स रॉयल एंपायर मार्केटिंग लिमिटेड, मैसर्स कंदर्प होटल प्राइवेट लिमिटेड के ठिकानों पर छापेमारी की गई है. हरिशंकर तिवारी के बेटे विनय शंकर तिवारी के कई फर्मों पर कई बैंकों के करीब 1500 करोड़ रुपये हड़पने का आरोप है. बता दें कि इस मामले में आईटी डिपार्टमेंट ने भी कुछ समय पहले समन दिया था.

बताया जा रहा है कि हरिशंकर तिवारी की कई कंपनियों ने राष्ट्रीय बैंकों से लोन लिया था. इसके बाद गंगोत्री इंटरप्राइजेज ने लोन की रकम को समय से वापस नहीं किया. बैंकों का आरोप है कि लोन की रकम को दूसरी जगह निवेश किया गया. जिसके बाद बैंक ने इसकी शिकायत की. इस पर सीबीआई ने आज कंपनी के कई ठिकानों पर छापेमारी की।

सीबीआई ने बसपा विधायक विनय शंकर तिवारी की कंपनी गंगोत्री इंटरप्राइजेज के कार्यालयों पर मारा छापा मारा गया है। इस कंपनी पर 1500 करोड़ के बैंक लोन घोटाले को लेकर छापेमारी की गई है। विनय शंकर तिवारी पूर्वांचल के बाहुबली नेता पंडित हरिशंकर तिवारी के बेटे हैं।
विज्ञापन

सीबीआई की छापेमारी लखनऊ, गोरखपुर और नोएडा में चल रही है। आरोप है कि बैंक लोन हड़प कर दूसरी जगह निवेश करने का प्रयास किया जा रहा था।

बताया जा रहा है कि बसपा विधायक ने गंगोत्री इंटरप्राइजेस के लिए बैंक से लोन लिया था। लोन लेने के लिए फर्जी दस्तावेजों का प्रयोग किया गया और बाद में कंपनी ने लोन का भुगतान भी नहीं किया। इस मामले में बैंक ने विनय तिवारी की कंपनी के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई थी।