BJP के पूर्व सांसद शरद त्रिपाठी का निधन, गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में ली आखिरी सांस; लंबे समय से बीमार थे

यूपी के संतकबीरनगर से भाजपा के पूर्व सांसद शरद त्रिपाठी का बुधवार देर रात लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया. वे लंबे समय से बीमार थे और गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती थे. शरद त्रिपाठी के निधन पर बीजेपी के कई बड़े नेताओं ने शोक व्यक्त किया है. देवरिया से भाजपा सांसद रमापतिराम त्रिपाठी के बेटे एवं संतकबीरनगर के पूर्व सांसद शरद त्रिपाठी को लीवर सिरोसिस बीमारी के कारण कुछ दिनों पूर्व गुरुग्राम स्थित मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

खजनी तहसील के रहने वाले थे
बीजेपी के पूर्व सांसद शरद त्रिपाठी मूलरूप से गोरखपुर के निवासी थे. उनका पैतृक निवास खजनी तहसील क्षेत्र में पड़ता है. शहर में वह साहब धर्मशाला स्थित आवास पर परिवार के साथ रहते थे. देवरिया के सांसद और भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रमापति राम त्रिपाठी के पुत्र शरद त्रिपाठी वर्ष 2014 में भाजपा के टिकट पर संतकबीरनगर से सांसद बने थे. पिछले दो-तीन से उनकी हालात बिगड़ने पर सांसद पिता डॉ. रमापति त्रिपाठी और पूरा परिवार गुरुग्राम पहुंच गया था. शरद त्रिपाठी के मुताबिक बुधवार की रात 11 बजे शरद त्रिपाठी के निधन की सूचना यहां मिली.

विवाद के बाद आए थे चर्चाओं में
बता दें कि साल 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले ही उनका संतकबीरनगर के मेंहदावल सीट से भाजपा विधायक राकेश सिंह बघेल से विवाद हो गया था. कलेक्ट्रेट सभागार में तत्कालीन सांसद और विधायक के बीच मारपीट हुई थी. यह मामला तब देश भर में चर्चा का विषय रहा था. हालांकि इस घटना के बाद ही शरद को संतकबीरनगर से टिकट नहीं मिला था और उनके पिता व पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रमापति राम त्रिपाठी को देवरिया से चुनाव मैदान में उतारा था, जहां से उन्होंने जीत दर्ज की थी.